Thursday, January 2, 2020

धामी गोली कांड/Dhami Goli Kand

Dhami Goli Kand Complete Information in Hindi/English

धामी गोली कांड - 

धामी गोली कांड/Dhami Goli Kand


16 जुलाई, 1939 में धामी गोली कांड हुआ | 13 जुलाई, 1939 ई. को शिमला हिल स्टेट्स हिमालय रियासती प्रजामण्डलके नेता भागमल सौठा की अध्यक्षता में धामी रियासतों के स्वयंसेवक की बैठक हुई | इस बैठक में धामी प्रेम प्रचारिणी सभा पर लगाई गई पाबंदी को हटाने का अनुरोध किया, जिसे धामी के राणा ने मना कर दिया | 16 जुलाई, 1939 में भागमल सौठा के नेतृत्व में लोग धामी के लिए रवाना हुए | भागमल सौठा को घणाहट्टी में गिरफ्तार कर लिया गया | राणा ने हलोग चौक के पास इकटठी जनता पर घबराकर गोली चलाने की आज्ञा दे दी जिसमें 2 व्यक्ति मारे गए व कई घायल हो गए |



Click Here for 

Dhami Goli Kand:-


On 16 July 1939, the Dhami Goli scandal took place. On July 13, 1939, a meeting of the Dhami princely swayamsevaks was held under the chairmanship of Bhagmal Southa, the leader of the Shimla Hill States Himalayan princely state. In this meeting, Dhami requested to remove the ban imposed on Prem Pracharini Sabha, which Dhami's Rana refused.On 16 July 1939, under the leadership of Bhagmal Southa, people left for Dhami. Bhagmal Southa was arrested in Ghanahatti. Rana ordered to shoot at the gathering people near Halog Chowk, in a panic, in which two persons were killed and many were injured.



Social Media(Stay Updated With Us):


                                                              Advertisement With Us      

No comments: