Thursday, January 2, 2020

Lakes In Himachal Pradesh

Lakes In Himachal Pradesh

Lakes In Himachal Pradesh

||Lakes In Himachal Pradesh||Lakes In HP||

Lakes In Himachal Pradesh
Lakes In Himachal Pradesh 

👉👉बनावटी झीलें (कृत्रिम झीलें)-
Artifical Lakes In Hp||Man made Lakes In HP||

(i) गोविंद सागर झील:- गोविंद सागर हिमाचल की सबसे बड़ी कृत्रिम झील है। यह झील बिलासपुर जिले में सतलुज नदी पर बनी है। इस जिल की लम्बाई 88 मीटर है। इस जिल का क्षेत्रफल 168 वर्ग किमी॰ है।

(ii) पौंग झील:- यह झील कांगड़ा जिले में हैं। यह झील व्यास नदी पर बनी हुयी है। इसकी लम्बाई 42 किमी॰ है। इस झील के पास पौंग डैम भी है, जो 1960 में बना था। इस झील को महाराणा प्रताप सागर के नाम से जाना जाता है।

(iii) पंडोह झील:- यह झील मंडी के ब्यास नदी पर बनाई गयी है। इसकी लम्बाई 14 किमी॰ है और यह राष्ट्रीय राजमार्ग 21 के किनारे है।

👉👉 हिमाचल प्रदेश की प्राकृतिक झीलें :-
||Natural Lakes In Himachal Pradesh||Natural Lakes In HP||

Lakes In Chamba District:-

||Lakes In Chamba District||Natural lakes In Chamba District||

(क) गड़ासरू झील - 1 किमी. परिधि, ऊँचाई - 3505 मी. (चुराह तहसील में देवी कोठी के पास स्थित है |)

(ख) खजियार झील - 0.5 किमी. लंबी, ऊँचाई 1951 मी. |

खजियार को हिमाचल प्रदेश का स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है | इसे यह नाम पी. ब्लेजर ने 7 जुलाई, 1992 को दिया | यह विश्व का 160 वां स्थान है, जिसे मिनी स्विटजरलैंड का दर्जा दिया गया है | यह स्विट्जरलैंड की राजधानी बर्न से 6194 किमी. दूर है |

(ग) लामा झील - इस झील की ऊँचाई - 3962 मी. है | यह सात झीलों का समूह है | (भरमौर उपमंडल में स्थित है |)

(घ) मणिमहेश झील - इस झील की ऊँचाई - 3950 मी. है | यह कैलाश पर्वत के नीचे स्थित है |

(ड़) चमेरा झील - (कृत्रिम झील है, जो रावी नदी के पानी से बनी है |)

(च) महाकाली झील - इस झील की ऊँचाई - 3657 मी. है | यह झील देवी काली को समर्पित है | (चुराह तहसील के खुंडी में चांजू पंचायत में स्थित है |)

Lakes In Kangra District:-

||Lakes In Kangra District||Natural lakes In Kangra District||



(क) डल झील - इस झील की ऊँचाई - 1775 मीटर है | यह धर्मशाला से 11 किमी. दूर है |

(ख) करेरी झील - इस झील की ऊँचाई - 1810 मीटर है |

Lakes In Kangra District:-

||Lakes In Kangra District||Natural lakes In Kangra District||

(क) कुमारवाह झील - इस झील की ऊँचाई - 3150 मी. है |

(ख) पराशर झील - इस झील की ऊँचाई - 2743 मी. है |

(ग) रिवालसर झील - इस झील को बौद्ध लोग पद्माचन भी कहते हैं | बौद्ध भिक्षु पद्मसम्भव के जन्म दिन पर यहाँ छेच्शु मेला लगता है | यह झील हिन्दू, सिख व बौद्ध तीनों धर्मों के लोगों का तीर्थ स्थान है | इसे तैरते हुए टापुओं की झील भी कहते हैं |

(घ) कुन्त भयोग

(ड़) सुखसागर झील

(च) कामरुनाग

(छ) कालासर झील

Lakes In Kullu District:-

||Lakes In Kullu District||Natural lakes In Kullu District||

(क) मनतलाई झील (पार्वती नदी का उद्गम स्थल)

(ख) भृगु

(ग) दशहर (रोहतांग दर्रे के समीप)

(घ) स्त्रयुल

(ड़) सरवालसर (बंजार उपमंडल में स्थित है )

Lakes In Lahaul & Spiti District:-

||Lakes In lahaul & spiti District||Natural lakes In lahaul spiti District||

(क) सूरजताल झील - इस झील की ऊँचाई 4800 मीटर है | भागा नदी का उद्गम स्थान बारालाचा दर्रे के समीप यह झील स्थित है |

(ख) चंद्रताल झील - इस झील की ऊँचाई 4270 मीटर है | (इसे लोहित्य सरोवर के नाम से भी जाना जाता है |)

(ग) ढंखर झील

Lakes In Shimla District:-

||Lakes In Shimla District||Natural lakes In Shimla District||

(क) चन्द्रनाहान झील - ऊँचाई - 4267 मी. (रोहडू, शिमला में स्थित) पब्बर नदी का उद्गम स्थल स्थान |

(ख) तानु जुब्बल झील (नारकंडा)

(ग) गढ़ कुफर

(घ) कराली झील

(ड़) बरादोनसर झील

Lakes In Kinnaur District:-

||Lakes In Kinnaur District||Natural lakes In Kinnaur District||

(क) नाको झील - इस झील की ऊँचाई 3662 मी. है |

(ख) सोरंग झील

Lakes In sirmaur District:-

||Lakes In Sirmaur District||Natural lakes In Sirmaur District||

(क) रेणुका झील - यह हिमाचल प्रदेश के सबसे बड़ी प्राकृतिक झील है, जो 2.5 किमी. लंबी है | इसकी आकृति सोई हुई स्त्री जैसी है | रेणुका भगवान परशुराम (विष्णु के छठे अवतार) की माता है | रेणुका को अपने पुत्र परशुराम के हाथों बलिदान होना पड़ा, जिसने अपने पिता जमदग्नि की आज्ञा का पालन करते हुआ ऐसा किया | जमदग्नि जामलू देवता के रूप में भी जाने जाते थे |

(ख) सुकेती झील

👉👉Himachal Pradesh Lakes Question Answer :- Click Here


|HP lakes In Hindi||Himachal Pradesh lakes ||
Like Our Facebook PageClick Here
Advertisement With Us Click Here
To Join WhatsappClick Here
Online StoreClick Here

No comments: