Baba Kanshi Ram

Baba Kanshi Ram


||Baba kanshi ram||baba kanshi ram in hindi||pahari gandhi||
Baba Kanshi Ram
Baba Kanshi Ram

बाबा कांशी राम (11 जुलाई 1882 - 15 अक्टूबर 1943) एक भारतीय कवि और स्वतंत्रता के लिए सक्रिय कार्यकर्ता थे जिनका जन्म भारतीय राज्य हिमाचल प्रदेश में हुआ था।

                                                                                                      1931 में भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव को दी गई मौत की सजा का उन पर बहुत प्रभाव पड़ा। उन्होंने तब तक काले कपड़े पहनने की कसम खाई जब तक भारत ने अपनी स्वतंत्रता हासिल नहीं कर ली। उन्होंने 15 अक्टूबर 1943 को मृत्यु होने तक अपने व्रत का पालन किया और सियाहपोश जरनैल (द ब्लैक जनरल) के रूप में प्यार से जाने गए।

1937 में, पंडित जवाहरलाल नेहरू ने उन्हें पहाड़ी गांधी की उपाधि से सम्मानित किया।

Important:-


  •  इनका जन्म 11 जुलाई, 1882 में काँगड़ा जिले के डाडासिब्बा स्थान पर हुआ | 
  • 1902 में वह स्वाधीनता संग्राम में कूद पड़े | 
  • 1937 में 'गदड़िया' जनसभा में पंडित नेहरू ने इन्हें पहाड़ी गांधी का नाम दिया | 
  • सरोजिनी नायडू ने इन्हें पहाड़ी बुलबुलकहकर संबोधित किया | 
  • 1943 में इनकी मृत्यु हो गई | भगतसिंह, 
  • राजगुरु, सुखदेव को फांसी मिलने के बाद आजादी तक इन्होंने काले कपड़े धारण करने का प्रण किया |

||Baba kanshi ram||baba kanshi ram in hindi||pahari gandhi||

                           Like Our Facebook Page

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad