Wednesday, May 6, 2020

Folk Song Of Himachal Pradesh

Folk song of Himachal Pradesh

Folk Song Of Himachal Pradesh


||Folk Song Of Himachal Pradesh||Folk Song Of HP||

Folk Song Of Himachal Pradesh
Folk Song Of Himachal Pradesh
1. चम्बा - 'फुलमु-रूंझु', 'कुंजु-चंचलो' (प्रेमगीत), 'राजा-गंद्दण' (इसमें राजा संसारचंद है), 'भुक्कु-गद्दी', 'लच्छी', 'नुआला' (शिव जी की पूजा), एंचलिया (कन्या विवाह में एक माह पूर्व राम, शिव विवाह के प्रसंगों के लिए), 'सूहीगीत' (चम्बा की रानी के बलिदान के लिए सूही गीत गाया जाता है) | सूही मेले में चैत्र की अंतिम रात्रि को रानी के बलिदान के लिए 'सकुरात' गाया जाता है |

2. काँगड़ा - 'हरिसिंह राजेया', 'नुरपुरे दिए खतरेटिए', 'सुलिया टंगोई गई मेरी जान', 'घोड़ी', काँगड़ा का विवाह गीत है |

3. मण्डी - 'निर्मण्डा रीए ब्राह्मणिए', 'मनी रामा पटवारिया', 'न मन्या ओ हंसा' |

4. बिलासपुर - 'मोहणा', 'गम्भरी, बालो, झुंज्युटी' |

5. शिमला और सिरमौर - लाह्मन, झूरी, नाटी और हार |


Read More:- Folk Dance Of Himachal Pradesh

||Folk Song Of Himachal Pradesh||Folk Song Of HP||

Join Our WhatsApp Group


No comments: