Sunday, May 31, 2020

Geography Of Mandi District

Geography Of Mandi District

Geography Of Mandi District


||Geography of Mandi District in Hindi||Mandi District Geography||

Geography Of Mandi District
Geography Of Mandi District




1. भौगोलिक स्थिति - मण्डी हिमाचल प्रदेश के मध्य में भाग स्थित जिला है | मण्डी जिले के पूर्वमेंकुल्लू,पश्चिममेंबिलासपुर और हमीरपुर, उत्तर में काँगड़ा तथा दक्षिण में सोलन और शिमला जिले की सीमाएं लगती हैं |

2. पर्वत शृंखलाएं -

(क) धौलाधार शृंखला -यह शृंखला मण्डी जिले की पूर्वी सीमा पर स्थित है | नागरू (4400 मीटर) मण्डी की सबसे ऊँची चोटी धौलाधार पर्वत शृंखला में स्थित है |

(ख) घोघर धार - घोघर धार में गुम्मा और द्रंग की नमक खानें स्थित है |

(ग) सिकंदर धार - इस धार का नाम सिकंदर लोदी के नाम पर पड़ा है जिसने काँगड़ा अभियान के दौरान इसे पार किया था |

(घ) वेरकोट धार - यह धार रिवालसर से शुरू होकर सुकेत तक जाती है |

3. नदियाँ -

(क) सतलुज - सतलुज नदी फिरनू गाँव से मण्डी में प्रवेश करती है | सतलुज नदी सोलन और शिमला से मण्डी जिले की सीमा बनाती है |

(ख) ब्यास नदी - ब्यास नदी लारजी के पास मण्डी में प्रवेश करती है | इस स्थान पर सैंज और तीर्थन नदी ब्यास में मिलती है | ब्यास नदी में उत्तर दिशा में उहल, लूनी और रीना नदी तथा दक्षिण दिशा से जन्जेहली, सुकेती, सोन, भखर और रमोली नदियाँ मिलती हैं | पंडोह बाँध द्वारा ब्यास नदी का पानी दो सुरंगों से सतलुज में मिलाया जाता है |

4. झीलें - रिवालसर, पराशर, कामरुनाग, कुमारवाह, कुन्तभयोग, कालासर, सुखसार |

पण्डोह झील मण्डी की कृत्रिम झील है |

5. वन्य-जीव अभ्यारण्य - शिकारी देवी, नारगु और बांदली |

Read More:- Mandi District GK
||Geography of Mandi District in Hindi||Mandi District Geography||

                           Like Our Facebook Page

No comments: