General Science One Liner In Hindi

General Science One Liner In Hindi


General Science One Liner In Hindi


  • उच्च पर्वतीय क्षेत्रों में नाक से रक्त निकलने लगने का कारण है - रक्त दाब, वायुमण्डल दाब से उच्च होता
  • किलोवॉट शक्ति की इकाई है।
  • एक तड़ित चालक किसी ऊँचे निर्माण को तड़ित से रक्षित करता है क्योंकि यह बादलों से हुये किसी भी निरावेशन को क्षतिरहित पृथ्वी तक सुचालित करता है।
  • संग्रहीत अनाज में कीटों की वृद्धि का सबसे मुख्य कारक अनाज की नमी है।
  • समुद्र में हरित पादप मछलियों तथा अन्य जलचरों के लिये उपयोगी होते हैं क्योंकि वह आक्सीजन निष्कासित करते हैं।
  • संगलन प्रक्रिया सूर्य में ऊर्जा का स्रोत है।
  • अपमार्जक जल में घुलकर जल का पृष्ठ तनाव कम करके कपड़ों की सफाई करते हैं।
  • धात्विक तार की विद्युतीय प्रतिरोधकता पदार्थ की प्रकृति पर निर्भर करती है।
  • किसी बांध में संग्रह जल स्थिर ऊर्जा धारण करता है।
  • डॉक्टरी थर्मामीटर में प्रयुक्त द्रव पारा है।
  • एक विद्युत ओवन में विद्युत शक्ति का रूपांतर ऊष्मा ऊर्जा में होता है।
  • ब्लॉटिंग पेपर पर स्याही का सोखना स्याही की श्यानता के कारण है।
  • ओजोन की परत पृथ्वी को सूर्य को पराबैंगनी किरणों से रक्षण करती है।
  • दूध को मथनें पर मलाई पृथक् अपकेन्द्री बल के कारण होने लगती है।
  • गतिमान पिण्ड द्वारा धारित ऊर्जा गतिज ऊर्जा कहलाती है।
  • सौर सैल सूर्य ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में रूपांतरित करता है।
  • धातुयें विद्युत की सुचालक होती हैं, क्योंकि उनमें मुक्त इलेक्ट्रॉन होते हैं, और इनके परमाणु दृढता से बंधे होते हैं तथा इनका द्रव्यमान उच्च होता है।
  • किसी समायतनिक प्रक्रिया में दाब स्थिर रहता है।
  • अगर किसी कमरे के अन्दर रेफ्रिजिरेटर का दरवाजा खुला छोड़ दिया जाये तो कमरा धीरे-धीरे गर्म होने लगेगा।
  • गैसों में ध्वनि तरंग केवल अनुदैर्ध्य होती है।
  • स्टेनलेस स्टील एक समरूप मिश्रण है।
  • कूकिंग ऑयल को हाइड्रोलिसिस प्रक्रिया के द्वारा वनस्पति घी में परिवर्तित किया जाता है।
  • प्रकाश वर्ष की ईकाई दूरी है।
  • द्रव्यमान जड़त्व का माप नहीं है।
  • पारसेक (Parsec) दूरी की इकाई है।
  • 'क्यूरी' (Curie) रेडियोएक्टिव धर्मिता की इकाई है।
  • 'पास्कल' दाब का मात्रक है।
  • खाद्य ऊर्जा को कैलोरी में मापा जाता है।
  • 'एम्पियर' विद्युत का मात्रक है।
  • वातावरण में ध्वनि को डेसीबल इकाई के द्वारा मापा जाता है।
  • करेन्ट को 'एम्पेयर' द्वारा मापा जाता है।
  • एक खगोलीय इकाई सूर्य और पृथ्वी के बीच की दूरी से सम्बन्धित है।
  • बल एक वेक्टर मात्रा है।
  • ऊर्जा आदिश राशि है।
  • संवेग एक सदिश राशि है।
  • अगर एक घूर्णन करती हुई गोल मेज पर अचानक एक लड़का आकर बैठ जाता है तो मेज का कोणीय वेग कम हो जाता है।
  • अगर किसी चलती हुई वस्तु के वेग को दो गुना कर दिया जाये तो उसकी गतिज ऊर्जा चार गुनी हो जायेगी।
  • जल में तैरना न्यूटन के तृतीय नियम के कारण संभव है।
  • न्यूटन के पहले नियम को जड़त्व का नियम भी कहते हैं।
  • गाड़ी खींचता हुआ घोड़ा पृथ्वी पर घोड़े के पेरों के द्वारा आरोपित बल से आगे बढ़ता है।
  • रॉकेट न्यूटन के तृतीय नियम के सिद्धांत पर कार्य करता है।
  • अश्व यदि एकाएक चलना आरंभ कर दे तो अश्वारोही के गिरने की आशंका विश्राम जड़त्व का कारण है।
  • क्रिकेट का खिलाड़ी तेजी से आती हुई बॉल को हाथ पीछे करके पकड़ता है क्योंकि बॉल विश्राम की स्थिति में आ जाती है।
  • 20kg वजन को जमीन के ऊपर 1 मी. की ऊंचाई पर पकड़े रखने के लिये शून्य जूल किया गया है।
  • यदि हम भूमध्य रेखा से ध्रुव की ओर जाते हैं, तो g का मान बढ़ जाता है।
  • पहाड़ी पर चढ़ता एक व्यक्ति आगे की ओर झुक जाता है क्योंकि स्थायित्व बढ़ाने के लिए।
  • पानी से भरी डाट लगी बोतल जमने पर टूट जायेगी क्योंकि जमने से जल का आयतन बढ़ जाता है।
  • सड़क पर चलना बर्फ पर चलने की अपेक्षा सरल हैं क्योंकि सड़क पर घर्षण अधिक होता है।
  • एक नदी में चलता हुआ जहाज समुद्र में आता है तब जहाज का स्तर थोड़ा ऊपर आ जायेगा।
  • लोहे की कील पारे में तैरती है जबकि वह पानी में डूब जाती है क्योंकि लोहे का घनत्व पानी से अधिक है तथा पारे से कम।
  • बर्फ पानी में तैरती है, परन्तु एल्कोहल में डूब जाती है क्योंकि बर्फ पानी से हल्की होती है तथा एल्कोहॉल से भारी होती है।
  • किस तापमान पर जल का घनत्व अधिकतम होता है =4°C
  • बांध के नीचे की दीवार मोटी बनाई जाती है क्योंकि गहराई बढ़ने के साथ द्रव का दाब बढ़ता है।
  • बर्फ पर स्केटिंग करना प्रदर्शित करता है कि दाब बढ़ने से बर्फ का ग्लनांक बढ़ जाती है।
  • चौराहों पर पानी के फुहारे में गेंद नाचती है क्योंकि पानी का वेग बढ़ने से दाब कम हो जाता है।
  • क्षेत्रफल अधिक होने से दाब कम होने के कारण दलदल में फंसे व्यक्ति को लेट जाने की सलाह दी जाती है।
  • भारी वाहनों में डीजल का प्रयोग इसलिए होता है क्योंकि इसमें उच्च शक्ति व आर्थिक बचत होती हैं।
  • प्राकृतिक रबर आइसोप्रीन का बहुलक हैं।
  • विनेगर का घटक एसीटिक एसिड हैं।
  • वर्मी कम्पोस्ट कार्बनिक बायो उर्वरक हैं।
  • बर्फ के दो टुकड़ों को आपस में दबाने पर टुकड़े आपस में चिपक जाते हैं क्योंकि दाब अधिक होने से बर्फ का ग्लनांक घट जाता है।
  • हम दलदली सड़कों पर घर्षण की कमी के कारण फिसलते हैं।
  • कार्यकारी वायुदाब बढ़ाने के लिये जहाज को उड़ाने से पहले दौड़ाया जाता है।
  • हाइड्रोजन में भरा रबर का गुब्बारा आकाश में जाकर फट जाता है क्योंकि वायुदाब घट जाता है।
  • सूर्य की ऊर्जा नाभिकीय संलयन द्वारा उत्पन्न होती है।
  • डायनेमों यात्रिक ऊर्जा को विद्युत ऊर्जा में रूपांतरित करता है।
  • खींचे हुये धनुष में गतिज ऊर्जा नहीं है।
  • जब एक चल वस्तु की गति दुगनी हो जाती है तो उसकी गतिज ऊर्जा चौगुनी हो जाती है।
  • सीढ़ी पर विरूद्ध गुरूत्व के कारण सीढ़ी पर चढ़ने पर अधिक ऊर्जा खर्च होती है।
  • साईकल चलाने वाला मोड़ लेते समय झुकता है क्योंकि गुरूत्व केन्द्र आधार के अन्दर बना रहे।
  • वाशिंग मशीन का कार्य अपकेन्द्रण सिद्धांत पर निर्भर करता है।
  • भूस्थिर उपग्रह का आवर्त 24 घंटे है।
  • टेनिस की गेंद मैदान की अपेक्षा किसी पहाड़ी पर पृथ्वी का गुरूतत्वीय त्वरण कम होने के कारण अधिक उछलती है।
  • बर्फ की बूंद का आकार पृष्ठ तनाव के कारण गोलाकार होता है।
  • कपूर के छोटे-छोटे टुकड़े पृष्ठ तनाव के कारण सतह पर नाचते हैं।
  • जब शुद्ध जल में डिटर्जेंट डाला जाता है पृष्ठ तनाव कम हो जाता है।
  • लैंप की बत्ती में तेल ऊपर केशिकीय घटना के कारण ऊपर उठता है।
  • ऑर्केमेंडिज का नियम प्लवन के नियम से संबंधित है।
  • पहिये पर बॉल बियेरिंग स्थेतिक घर्षण को गतिज घर्षण में बदलता है।
  • पानी के एक गिलास में बर्फ का टुकड़ा तैर रहा है। जब बर्फ पिघलती है तो पानी का मान उतना ही रहेगा।
  • 'क्यूसेक' से जल का बहाव मापा जाता है।
  • 24 कि.मी./घण्टा के वेग का मान 15 m/sec. है।
  • Nm (न्यूटन मीटर) ऊर्जा का माप है।
  • ब्लावटिंग पेपर द्वारा स्याही के सोखने केशिकीय अभिक्रिया परिघटना से संभव है।
  • एक गेंद के क्षितिज से 45° कोण तक फेंकने से यह अधिकतम दूरी तय कर सकती है।
  • पेट्रोल का घनत्व सबसे कम होता है।
  • जब किसी वस्तु को ठंडा किया जाता है तो उसके अणुओं की चाल घट जाती है।
  • जब कुछ पानी का लगातार मंथन तब उसका ताप बढ़ जाता है। इस क्रिया में यांत्रिक ऊर्जा का रूपांतरण ऊष्मीय ऊर्जा में होता है।
  • शीतकाल में हैंडपम्प का पानी गर्म इसलिये होता है क्योंकि पृथ्वी के भीतर तापमान वायुमण्डल के तापमान से अधिक होता है।
  • SI System में तापमान की इकाई 'केल्विन' है।
  • बर्फ का दाब बढ़ाने से उसका ग्लंनाक (mip) घट जायेगा।
  • सूर्य का ताप ‘पाईरोमीटर' तापमापी द्वारा मापा जाता है।
  • चाय में उत्तेजन पदार्थ एल्केलोइड होता हैं।
  • ताप के सेल्सियस पैमाने पर परम शून्य ताप -273°C पर होता है।
  • न्यूनतम ताप -273°C पर संभव है।
  • मानव शरीर में C में तापमान 36.89°C है।
  • मानव शरीर का तापमान सामान्य 98°F होता है।
  • दिल्ली में जल का कवथनांक 100°C है तो मसूरी में जल का तापमान 100°C से कम होगा।
  • एक धातु को ठोस गेंद के अंदर कोटर है जब इस धातु की गेंद को गर्म किया जायेगा तो कोटर का आयतन भी बढ़ेगा।
  • जब किसी बोतल में पानी भरा जाता है तो उसे जमने दिया जाता है तो बोतल टूट जाती है क्योंकि पानी जमने पर फैलता है।
  • किसी झील सतह पर पानी बस जमने ही वाला है तब झील के अन्दर तापमान 4°C होगा।
  • शीतकाल में जब ठंड से जल जम जाता है जब मछलियां तथा अन्य जीव जीवित रह सकते हैं क्योंकि जल का केवल ऊपरी परत ही जमता है।
  • विद्युत केतली में पानी संवहन के कारण ही गर्म रहता है।
  • सूर्य की ऊष्मा पृथ्वी पर विकिरण के माध्यम से आती है।
  • पारा ऊष्मा का सर्वोत्तम चालक है।
  • एक टेबल पंखे के बन्द कमरे में चलाने पर कमरे की हवा गरम होगी।
  • समुद्र का पानी ऊष्मा का सबसे अच्छा सुचालक होता है।
  • पारा ऊष्मा का अच्छा सुचालक है।
  • सुबह का सूर्य दोपहर के सूर्य से गर्म नहीं होता क्योंकि सुबह के समय सूर्य की किरणों को अंतरिक्ष में अधिक दूरी तय करती पड़ती है।
  • काले वस्त्रों की बजाय श्वेत वस्त्र इसलिये अच्छे होते हैं क्योंकि जो भी प्रकाश उनके पास पहुँचता है उसे वे परावर्तित करते हैं।
  • "अच्छे उत्सर्जक अच्छे अवशोषक होते है" यह नियम किरचोफ का नियम है।
  • गर्म जल 90°C से 80°C तक ठंडा होने के लिये 10 मिनट लेता है तो 80°C से 70°C तक ठंडा होने में समय 10 मिनट से अधिक होगा।
  • धर्मस फ्लास्क (Thermos Flask) का अविष्कार 'डिवार' ने किया था।
  • धर्मस फ्लास्क की आंतरिक दीवारें चमकीली, विकिरण द्वारा होने वाली ऊष्मा हानि को रोकने के लिये होती
  • मोटरगाड़ी में रेडियेटर को ठंडा करने के लिके पानी का उपयोग किया जाता है क्योंकि पानी की बिशिष्ट ऊष्मा अधिक होती है।
  • निम्नतापी परीक्षण -196°C पर किया जाता है।
  • शुद्ध पदार्थ में कोई अन्य पदार्थ मिला देने पर उसका ग्लनांक घट जाता है।
  • ठोस से द्रव पदार्थ के परिवर्तन को गलन कहते हैं।
  • किसी द्रव का वाष्पीकरण होने से उसका तापमान घटेगा।
  • चावल को पकाने में समुद्र तट पर अधिक समय लगेगा।
  • पहाड़ की चोटियों पर आलू पकाने में अधिक समय वायुमण्डलीय दाब कम होने पर लगेगा।
  • तेज हवा वाली रात्रि में ओस नहीं बनती क्योंकि वाष्पीकरण की दर कम होती है।
  • जल का कवथनांक बढ़ने पर प्रेशर कुकर में खाना कम समय में तैयार हो जाता है।
  • पहाड़ों पर पानी 100°C से कम तापमान पर उबलता है।
  • बर्फ के गलन की गुप्त ऊष्मा का मान 80 cal/g होता है।
  • रेफ्रिजिरेटर में थर्मोस्टेट (Thermostate) का कार्य तापमान एक समान बनाये रखना है।
  • एक स्वस्थ मनुष्य के शरीर का ताप 37°C होता है।
  • गर्मियों में सफेद कपड़ा पहनना आरामदेह है क्योंकि ये अपने ऊपर पड़ने वाली ऊष्मा को परावर्तित कर देते हैं।
  • पसीना शरीर को ठंडा करता है क्योंकि वाष्पीकरण के लिये गुप्त ऊष्मा की आवश्यकता होती है।
  • 0°C पर ध्वनि तरंगों की चाल 332 m/sec होती है।
  • चमगादड़ अंधेरे में उड़ सकते हैं क्योंकि वे अति तीव्र तरंगें पैदा करती है जो उसका नियंत्रण करती है।
  • स्टील में ध्वनि सबसे तेज यात्रा करती है।
  • वायु में ध्वनि का वेग 330 m/sec होता है।
  • ठोस में ध्वनि सबसे तेज होती है।
  • वायु में ध्वनि का वेग तापमान के घटने के घटता है।
  • ध्वनि प्रदूषण या ध्वनि डेसीबल में नापते हैं।
  • चंद्रमा पर धरातल से दूर विस्फोट सुनाई नहीं पड़ता क्योंकि वायुमण्डल की अनुपस्थिति के कारण।
  • ध्वनि मोटी या पतली तारत्व (Pitch) के कारण होती है।
  • स्त्रियों की आवाज पुरूषों की आवाज की अपेक्षा पतली (Shrill) होती है क्योंकि स्त्रियों की आवाज की आवृति अधिक होती है।
  • हवाई जहाज का उड़ान भरना सबसे अधिक ध्वनि प्रदूषण पैदा करता है।
  • डेसीबल इकाई ध्वनि की तीव्रता की होती है।
  • स्पष्ट सुनने के लिये परावर्तक तल व ध्वनि स्रोत के बीच न्यूनतम दूरी 17 मीटर होनी चाहिये।
  • किसी प्रतिध्वनि को सुनने के लिये मूल आवाज और प्रतिध्वनि के बीच समय अन्तराल चाहिये।
  • ध्वनि तरंगें परावर्तन के कारण प्रतिध्वनि उत्पन्न करते हैं।
  • गूंजहीन हॉल (Dead Hall) का अनुरणन काल शून्य sec का होता है।
  • रेडियों में स्टेशन का बदलना अनुनाद के कारण संभव है।
  • लकड़ी में ध्वनि चाल अधिक होती है, ठोस होने के कारण।
  • प्रकाश का वेग निर्वात में अधिक होता है।
  • जल, कांच व हीरे में प्रकाश की चाल, कांच > हीरा > जल के क्रम के अनुसार होती है।
  • चन्द्रमा से पृथ्वी तक प्रकाश को आने का समय 1.3 सैकण्ड लगता है।
  • सूर्य का प्रकाश हमारे पास लगभग 8 मिनट में पहुंचता है।
  • सूर्य ग्रहण का अधिकतम समय 460 सैकण्ड है।
  • चन्द्र ग्रहण पूर्णिमा के कारण घटित होता है।
  • सूर्य ग्रहण अमावस्या के दिन होता है।
  • एक काटा हुआ हीरा पूर्ण आंतरिक परावर्तन के कारण जगमगाता है।
  • पानी में डुबी हुई लकड़ी मुड़ी हुई दिखाई देती है क्योंकि प्रकाश के अपरावर्तन के कारण।
  • मृगतृष्णा (mirage) पूर्ण आंतरिक परावर्तन का उदाहरण हैं।
  • मरीचिका प्रकाश के परावर्तन और पूर्ण आंतरिक परावर्तन का उदाहरण है।
  • स्पष्ट दृष्टि की न्यूनतम दूरी 25 cm होती है।
  • आकाश प्रकीर्णन (scattering) के कारण नीला दिखाई देता है।
  • सूर्यास्त व सूर्य उदय के समय सूर्य के लाल होने का कारण प्रकाश का प्रकीर्णन है।
  • इन्द्रधनुष में बैंगनी रंग का विक्षेपण अधिक होता है।
  • रोगियों के दांत देखने के लिये चिकित्सक द्वारा अवतल दर्पण प्रयुक्त होता है।
  • मानव आंख का रेटीना वास्तविक तथा उल्टा चित्र बनाता है।
  • एक वस्तु जब दो समतल दर्पणों के बीच रखी जाती है तो बने प्रतिबिम्बों की संख्या अनंत होती है।
  • जब समतल दर्पणों की सहायता से किसी वस्तु के तीन प्रतिबिम्ब प्राप्त करने के लिये दर्पणों का योग 90c होता है।
  • तीन मूल रंग है- नीला, लाल और हरा।
  • कैमरे में उत्तल लैंस का प्रयोग किया जाता है।
  • मानव की आंख वस्तु का चित्र रेटीना पर बनाती है।
  • आईरिस आंख में प्रकाश को जाने की मात्रा को नियंत्रण करता है।
  • निकट दृष्टि दोष को दूर करने के लिये अवतल लैंस का प्रयोग किया जाता है।
  • दूर दृष्टि से व्यक्ति को निकट की वस्तुयें दिखाई नहीं देती।
  • तारे अपवर्तन के कारण टिमटिमाते हैं।
  • नीले प्रकाश में उच्चत्तम ऊर्जा होती है।
  • प्रकाश की गति कांच में न्यूनतम होती है।
  • किसी तारे के रंग से ताप का पता चलता
  • Photon (फोटोन) प्रकाश का मात्रक है।
  • एक अंतरिक्ष यात्री को अंतरिक्ष काला दिखाई देगा।
  • कार पर पड़ने वाली आसमानी बिजली से बचने के लिये कार की खिड़कियाँ बंद कर लेनी चाहिये।
  • घरों में लगे पंखे, बल्ब समानान्तर क्रम में लगे होते हैं।
  • विशिष्ट प्रतिरोध का S.I. मात्रक ओम-मीटर है।
  • शुष्क सैल एक द्वितीयक सैल होता है।
  • लोहे के ऊपर जिंक की परत चढ़ाने को galvanisation कहते हैं।
  • बिजली के बल्ब का फिलामेन्ट टंगस्टन (w) का बना होता है।
  • बल्ब के अन्दर निर्वात् में वायु प्रवेश करती है जिससे उसे तोड़ने पर आवाज तेज होती है।
  • Tube Light का 60-70% भाग प्रकाश में परिवर्तित होता है
  • Kilowatt प्रति घंटा विद्युत ऊर्जा की इकाई है।
  • एम्पियर विद्युत धारा को मापने की इकाई है।
  • बिजली के पंखें की गति बढ़ाने के लिये रेगुलेटर का प्रयोग किया जाता है।
  • चुम्बक की आर्कषक शक्ति मध्य में कम होती है।
  • ध्रुवों में नमन कोण का मान 90° होता है।
  • एक स्थिर चुम्बक उत्तर-उत्तर तथा दक्षिण-दक्षिण दर्शाती है।
  • ट्रॉन्सफार्मर का सिद्धांत विद्युत चुम्बकीय प्रेरण के सिद्धांत पर निर्भर करता है।
  • ट्रॉन्सफार्मर AC वोल्टता को घटाने और बढ़ाने में प्रयुक्त होता है।
  • हाईड्रोजन में बम में प्रोट्रॉन की संख्या 1 है।
  • डायोड वह प्रयुक्ति है जो धारा को एक दिशा में प्रवाहित होने देती है।
  • लेसर बीम का प्रयोग आंख की चिकित्सा में होता है।
  • LASER = Light Amplification by Stimulated Emission of Radiations
  • कृष्ण पिण्ड का सिद्धांत “एस चन्द्रशेखर" ने दिया था।
  • आर्द्रता हाइग्रोमीटर में मापी जाती है।
  • दूध की शुद्धता लैक्टोमीटर में मापी जाती है।
  • Wheatstone Bridge प्रतिरोध नापता है।
  • I Nano sec. में 10-9 sec होते हैं।
  • एक अश्व शक्ति में 746W होते हैं।
  • 1 नोटिकल मील 1.85 km के बराबर है।
  • 1 बार में 10% Pa होते हैं।
  • 1 माईक्रॉगन में 10 मीटर होते हैं।
  • 1 जूल में 0.24 कैलोरी होता है।
  • तेल' का एक बैरल 159 लीटर के बराबर होता है।
  • अगर दो विभिन्न द्रव्यमानों (Masses) वाले पत्थरों को किसी ईमारत से एक साथ नीचे फेंक दिया जाये तो
  • दोनों पत्थर जमीन पर एक साथ समान समय में पहुंचेगें।
  • सितारों की दूरी प्रकाश वर्ष में मापी जाती है।
  • डाक्टरी थर्मामीटर का अविष्कार गैलीलियों ने किया।
  • अमोनिया एक यौगिक है।
  • मिट्टी के तेल में आक्सीजन नहीं होती है।
  • बारूद एक मिश्रण है।
  • कोयला एक तत्व है।
  • अमोनिया एक रसायनिक यौगिक है।
  • परमाणु के नाभिक का आकार 10-1m होता है।
  • परमाणु भार का अन्तर्राष्ट्रीय मानक C-12 है।
  • B-किरणें, ऋण अवेशित कणों से बनी होती है।
  • रेडियोधर्मिता का यूनिट 'क्यूरी' है।
  • गामा किरणें (X-rays) उच्च ऊर्जा वाली विद्युत चुम्बकीय तरंगें होती हैं।
  • अम्ल वह पदार्थ है जो प्रोटॉन देता है।
  • भस्म (क्षार) वह पदार्थ है जो प्रोटॉन ग्रहण करता है।
  • अम्ल नीचे लिटमस को लाल कर देता है।
  • भस्म (क्षार) लिटमस पत्र को नीला कर देता है।
  • जल में घुलनशील भस्म (Base) को क्षार कहते हैं।
  • शुद्ध जल में हाइड्रोजन आयन सांद्रण का मान 10-' होता है।
  • अम्ल घोल का pH मान 7 से कम होता है।
  • दूध का pH मान 6.6 होता है।
  • Fe++ की Fe+++. में रूपांतरण आक्सीकरण कहलाता है।
  • आक्सीजन की घनात्मक (+ve) आक्सीकरण संख्या OF, में होती है।
  • यदि एक गैस का वाष्प घनत्व 14 है तो उसके अणु का भार 28 होगा।
  • यदि किसी गैस का अणुभार उसके वाष्प घनत्व का दुगुना होता है।
  • ईधन वह पदार्थ है जो जलकर ऊष्मा प्रदान करते हैं।
  • मिथेन मुख्यतः प्राकृतिक गैस में रहता है।
  • गोबर गैस में मुख्यतः मिथेन होता है।
  • L.P.G. का मुख्य घटक व्यूटेन है।
  • क्षार का pH मान 7 से अधिक होता है।
  • रॉकेट को जलाने में प्रणोदक ईंधन का प्रयोग होता है।
  • भूरा कोयला (Brown Coal) लिग्नाइट को कहा जाता है।
  • अग्निशामक में CO, गैस प्रयुक्त होती है।
  • सबसे भारी धातु ओस्मियम है। सबसे हल्की धातु लिथियम है।
  • सबसे हल्का तत्व हाइड्रोजन है।
  • चाकू से काटी जा सकने वाली वस्तु सोडियम है।
  • सोडियम के टुकड़े को यदि पानी में डाल दिया जाये तो वह तैरते हुये जलने लगेगा।
  • आटे मे खाने वाला सोडा, CO, मुक्त करता है जिससे रोटी फुल जाती है।
  • विषाणु जीवित कोशिका में वृद्धि करता है।
  • 'साबुदाना' (Sago) साईकस से बनाया जाता है।
  • संसार में सबसे लम्बा पौधा यूकेलिप्टस है।
  • विटामिन-सी का सबसे स्रोत आंवला है।
  • पौधों को वृद्धि लिये 16 तत्वों की आवश्यकता होती है।
  • पत्तियों का मुख्य कार्य प्रकाश संश्लेषण व वाष्पोत्सर्जन है।
  • प्रकाश संश्लेषण की दर बैंगनी रंग के प्रकाश में सबसे कम होती है
  • प्रकाश संश्लेषण केवल दिन में होता है।
  • पादप रोगों का सबसे उत्तरदायी कारक फफूंदी है।
  • धान का प्रसिद्ध रोग 'खैरा रोग' जस्ता की कमी के कारण होता है
  • मैन्ग्रोव वनस्पति का मुख्य घटक राइजोफोरा है।
  • जब हम बकरी का मांस खाते हैं तब हम द्वितीयक उपभोक्ता है।
  • भारत में वन अनुसंधान संस्थान देहरादून में स्थित है।
  • चिपको आन्दोलन का मूल वन कटाई के विरूद्ध था।
  • Co मुख्य वायु प्रदूषक होता है।
  • मुंबई तथा कोलकत्ता जैसे शहरों में प्रमुख वायु प्रदूषक Co एवं SO, है।
  • कीड़ों के अध्ययन को एण्टोमोलॉजी कहते हैं।
  • प्रयोगशाला में सर्वप्रथम DNA का संश्लेषण खुराना ने किया था।
  • पुरूष का y तथा स्त्री का X क्रोमोसोम के मिलने से बालक का जन्म होता है।
  • मनुष्य में द्विगुणित क्रोमोसोम की संख्या 23 है।
  • मशरूम एक फंगी (Fungi) है।
  • गुणसूत्र में DNA और प्रोटीन है।
  • बिच्छु का विष डंक में होता है।
  • मनुष्य में कालाजार (Kala-azar) रोग फैलाने वाला मच्छर सैण्ड फ्लाई है।
  • 'अजगर' एक जहरीला सांप नहीं है।
  • लंगूर एक कपि नहीं हैं।
  • 'व्हेल शार्क' सबसे बड़ी मछली है।
  • 'होलोडर्मा' एक विषैली छिपकली है।
  • शुतुरमुर्ग अपने शत्रु से बचाव करने के लिये अपना सिर रेत के नीचे कर लेता है।
  • पेंगुइन चिड़िया अण्टार्कटिका में पायी जाती है।
  • होमोसेपिन्यस (Homosapians) आधुनिक मानव का वैज्ञानिक नाम हैं।
  • टिबिया नाम हड्डी टांग में पायी जाती है।
  • लार पदार्थ के पाचन में सहायक होती है।
  • मनुष्य 1 मिनट में 12-16 बार सांस लेता है।
  •  जीव विज्ञान शब्द का प्रथम प्रयोग लैमार्क एवं ट्रेविरेनस ने किया था।
  • पौधों के नाम देने वाले विज्ञान को वर्गिकी कहते हैं।
  • फलों के अध्ययन को पोमोलोजी (Pomology) कहते हैं।
  • भाईकोप्लाजमा सबसे छोटा जीव है।
  • तपेदिक (TB) उत्पन्न करने वाला जीवाणु माईकोबैक्टीरियम है।
  • यदि एक जीवाणु कोशिका 20 मिनटों में विभाजित होती है, तो वह दो घंटे में 64 जीवाणुओं का निर्माण करेगी।
  • हाइड्रोफोबिया (Hydrophobia) रोग विषाणु से उत्पन्न होता है।
  • विषाणुओं में एन्जाईम अनुपस्थित होते हैं।
  • एड्स का कारण T-4 लिम्फोसाइट्स की कमी है।
  • एड्स 'वायरस' के कारण होता है।
  • मशरूम एक कवक है।
  • टिक्का रोग (Tikka disease) मूंगफली में होता है।
  • मिरगी की औषधि परमेलिन लाईकेन से प्राप्त होती है।
  • बीजों की प्रकृति टेरिडोफाइट्स से उत्पन्न हुई।
  • विषाणु (Virus) अकोशीय होता है।
  • गाजर एक जड़ है।
  • चन्दन के पेड़ को आंशिक मूल परजीवी माना जाता है।
  • co, गैस श्वसन के अंतर्गत मुक्त होती है। ।
  • फल पकाने वाला हार्मोन एथीलीन है।
  • नींबू का कैंकर रोग जीवाणु से होता है।
  • पत्तियों का हरा रंग कलोरोप्लास्ट प्रदान करता है।
  • 80% से अधिक कोशिका में जल पाया जाता है।
  • गुणसूत्र शब्द वाल्डेयर ने प्रदान किया था।
  •  Pb एक मोटरगाड़ी से उत्पन्न होने वाला प्रदूषक है जो मानसिक रोग पैदा करता है।
  • भोपाल दुर्घटना में मिथाईल आईसोसाईनेट गैस का रिसाव हुआ था।
  • डी.डी.टी. से अजैव अपघटनीय प्रदूषण होता है।
  • मानव त्वचा का अध्ययन डर्मेटोलॉजी कहलाता है।
  • हिस्टोलॉजी (Histology) उत्तक से संबंधित है।
  • घाव (Wound) का अध्ययन ट्रोमेटोलॉजी कहलाता है।
  • -- जनसंख्या के अध्ययन को डेमोग्राफी कहते हैं।
  • मनुष्य के शरीर में सबसे लम्बी कोशिका तंत्रिका कोशिका होती है।
  • ऊँट का कूबड़ वसामय उत्तक का बना होता है।
  • दांत मुख्य रूप से डेन्टाइन से बने होते हैं।
  • दांत का शिखर एनामिल से बना होता है।
  • Rh कारक का यह नाम बंदर से लिया गया है।
  • प्लाज्मा में जल का प्रतिशत 80% होता है।
  • माता-पिता के गुण उनकी संतानों में गुणसूत्र के द्वारा स्थानांतरित होते हैं।
  • मनुष्य में नर का गुणसूत्र XY होता है।
  • 'जीन' शब्द W.L. Johnson ने बनाया था।
  • 'जीन' DNA का एक भाग होता है।
  • केंचुये की कोई भी आँख नहीं होती है।
  • समुद्री घोड़ा मत्सय वर्ग का एक उदाहरण है।
  • मछली एक स्तनधारी नहीं है।
  • भारत का राष्ट्रीय स्तनी-बाघ है।
  • पांडा और भालू समान कुल के हैं।
  • मनुष्य में कुल 206 हड्डियां होती हैं।
  • नवजात शिशुओं में हड्डियों की संख्या 300 होती हैं।
  • लार में टायलिन एन्जाइम पाया जाता है।
  • लार स्टार्च के पाचन में सहायक होती है।
  • पेप्सिन एक एन्जाइम है।
  • पित (Bile) पित्ताशय में जमा होता है व इसका उत्पादन यकृत करता हैं।
  • सोते समय रक्त दाब घटता है।
  • मानव ह्दय में 4 कोष्ठक होते हैं।
  • दौड़ लगाते समय मनुष्य का रक्त चाप बढ़ जाता है।
  • एक व्यस्क में रक्त का औसतन आयतन 5-6 ली. होता है।
  • रक्त में पायी जाने वाली धातु लोहा है।
  • यदि एक पिता का रक्त वर्ग A है तथा माता का रक्त वर्ग 0 हो तो पुत्र का रक्त वर्ग 0 होगा।
  • सेरेब्रम मस्तिष्क से संबंधित है।
  • मूत्र का पीला रंग यूरोक्रोम के कारण होता है।




                                    Join Our Telegram Group

Post a Comment

0 Comments
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

Top Post Ad

Below Post Ad