Saturday, April 24, 2021

Tributaries of Beas River in Himachal Pradesh

 

Tributaries of Beas River in Himachal Pradesh

||Tributaries of Beas in himachal pradesh||Tributaries of Beas River in hp||


Tributaries of Beas River in Himachal Pradesh


व्यास की सहायक नदियाँ-व्यास नदी संधोल से काँगडा में प्रवेश करती है। बजौरा से मण्डी में प्रवेश करती है। मिरथल से व्यास काँगड़ा

कुल्लू जिले में व्यास की सहायक नदियाँ

1. सैंज नदी-सैंज नदी स्पीति घाटी के सूपाकनी चोटी से निकल लारजी के पास व्यास नदी में मिलती है। हारला नदी भुतंर के पास व्यास नदी में मिलती है।

2. तिर्थन नदी-पीर पंजाल श्रेणियों से निकलकर लारजी के पास व्यास नदी में मिलती है।

3. पार्वती नदी-व्यास की सबसे बड़ी सहायक नदी पार्वती मनतलाई झील से निकलकर शमशी में व्यास नदी से मिलती है। मणिकर्ण, कसोल व्यास नदी के तट पर स्थित है।

4. अन्य धाराएँ-सोलंग, मनालसू, फोजल, सरवरी, पतलीकुहल जल धाराएँ पूर्व की ओर से भुतंर के पास व्यास नदी में मिलती है।

मण्डी जिले में व्यास की सहायक नदियाँ

व्यास नदी कुल्लू जिले के नगंवाई को छोड़कर, बजौरा के पास मण्डी जिले में प्रवेश करती है।

1. ऊहल नदी-ऊहल नदी पण्डोह और मण्डी के बीच व्यास नदी में मिलती है।

2. बेकर खड्ड-बेकर खड्ड संधोल के पास व्यास नदी में मिलती है।

3. सोन खड्ड-सोन खड्ड काढ़ी के पास व्यास नदी में मिलती है।

4. जिऊणी खड्ड-जिऊणी खड्ड पण्डोह में व्यास नदी में मिलती है।

 काँगड़ा जिले में व्यास की सहायक नदियाँ

1. उत्तरवर्ती सहायक नदियाँ-बिनवा, न्यूगल, बाणगंगा, गज, अवा और चक्की व्यास की उत्तरवर्ती सहायक नदियाँ हैं। गज खड्ड पौंग झील के पास व्यास नदी में मिलता है।

2. दक्षिणवर्ती सहायक नदियाँ-कुणाह खड्ड और मान खड्ड दक्षिण से (हमीरपुर) व्यास नदी में मिलते हैं।

3. चक्की खड्ड-पठानकोट के पास चक्की खड्ड व्यास नदी में मिलता है। नूरपुर चक्की खड्ड के किनारे स्थित है।

व्यास नदी हरसीपत्तन से हमीरपुर की ओर प्रवाहित होती है। हमीरपुर जिले में कुणाह और मान खड्ड व्यास नदी की मुख्य सहायक नदियाँ  है।

 स्वान नदी-स्वान नदी ऊना जिले को 2 भागों में बाँटती है। इसकी सहायक नदियाँ हैं-मलाट, तकेवाली, हूम, बरेड़ा, गरनी, पनोजा, गुवरी आदि। इसे ऊना में दुख का दरियाँ भी कहा जाता है।


Read More:-Tributaries of satluj in himachal pradesh



                                    Join Our Telegram Group

No comments: